অসম আদিত্য - দেশ-জাতিৰ অতন্দ্ৰ প্ৰহৰী
শেহতীয়া খবৰ
हवाई ईंधन की कीमत में फिर 5% की बढ़ोतरी, अब हवाई सफर करना होगा महंगा-कोरोना महामारी से निपटने के लिए किम जोंग उन करने वाले हैं सेना का इस्तेमाल-कोरोना महामारी से निपटने के लिए किम जोंग उन करने वाले हैं सेना का इस्तेमाल-असम में कैंसर सेंटरों के उद्घाटन पर बोले रतन टाटा-असम दौरे पर पहुंचे पीएम मोदी, सात कैंसर अस्पतालों का करेंगे उद्घाटन-असम दौरे पर पहुंचे पीएम मोदी, सात कैंसर अस्पतालों का करेंगे उद्घाटन-विश्व मलेरिया दिवस-दुनिया का रक्षा खर्च 20 खरब डॉलर के पार पहुंचा, भारत भी टॉप 3 में शामिल-जापान में एक टूरिस्ट बोट डूबने से 11 यात्रियों की मौत-नाइजीरिया की अवैध तेल रिफाइनरी में धमाका, 100 से ज्यादा लोगों की मौत

जापान में एक टूरिस्ट बोट डूबने से 11 यात्रियों की मौत

जापान में एक टूरिस्ट बोट डूबने की घटना में 11 लोगों की मौत हो गई है. जापानी कोस्ट गार्ड ने कहा कि उत्तरी राष्ट्रीय उद्यान के ठंडे पानी में डूबी टूरिस्ट बोट पर सवार 26 लोगों में 10 लोगों की मौत की पुष्टि हुई है. हालांकि बाद में एक बच्चे का शव और बरामद हुआ है. 

लापता लोगों की तलाश के लिए अब भी ऑपरेशन जारी है. एक दिन पहले बोट ने संकट में होने का मैसेज भेजकर कहा था कि वह डूब रही है. कोस्ट गार्ड ने रविवार कहा कि 10 मृतकों में सात पुरुष और तीन महिलाएं शामिल हैं.

नौका पर दो बच्चों समेत 24 यात्री और चालक दल के दो सदस्य सवार थे. यह नौका शिरेतोको प्रायद्वीप के पास शनिवार दोपहर डूब गई थी. केशुनी झरने के पास यह स्थान चट्टानी तटरेखा और तेज ज्वार की वजह से नावों को चलाने के लिए मुश्किल माना जाता है. इसलिए सवाल उठ रहे हैं कि नौका को चलाने की इजाजत क्यों दी गई. परिवहन मंत्रालय ने नौका संचालकों के खिलाफ घटना की जांच शुरू कर दी है. मंत्रालय ने कहा है कि वह सुरक्षा मानकों और शनिवार को खराब मौसम के बावजूद नौका को चलाने की इजाजत देने के फैसले की जांच कर रहा है. परिवहन मंत्री तेतसुओ सैतो ने इलाके का दौरा कर कहा, ‘हम पूरी तरह से जांच करेंगे कि इस स्थिति के कारण क्या थे और नौका चलाने की इजाजत देने के दौरान दुर्घटना को रोकने के लिए किस तरह की सुरक्षा निगरानी शामिल थी.’ बचाव दल को पहले शिरेतोको प्रायद्वीप के पास रविवार सुबह चार लोग मिले, फिर कुछ घंटों बाद उसी क्षेत्र में पांच और लोगों का पता चला. टेलीविजन चैनल ‘एनएचके’ के मुताबिक, बचाए गए लोगों में से एक व्यक्ति को हेलीकॉप्टर से उतार कर एक स्ट्रेचर द्वारा एम्बुलेंस में डालते दिखाया गया.

दक्षिणी जापान के कुमामोटो में दो दिवसीय शिखर सम्मेलन में भाग ले रहे प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा ने दूसरे दिन अपना कार्यक्रम रद्द कर दिया और टोक्यो लौट आए. उन्होंने अधिकारियों को बचाव के लिए हर संभव कोशिश करने के निर्देश दिए हैं.

दुर्घटना के कारणों की जांच की जा रही है, लेकिन अधिकारियों और विशेषज्ञों को हादसे के पीछे सुरक्षा में लापरवाही का शक है.

Leave A Reply

Your email address will not be published.