অসম আদিত্য - দেশ-জাতিৰ অতন্দ্ৰ প্ৰহৰী
শেহতীয়া খবৰ
हवाई ईंधन की कीमत में फिर 5% की बढ़ोतरी, अब हवाई सफर करना होगा महंगा-कोरोना महामारी से निपटने के लिए किम जोंग उन करने वाले हैं सेना का इस्तेमाल-कोरोना महामारी से निपटने के लिए किम जोंग उन करने वाले हैं सेना का इस्तेमाल-असम में कैंसर सेंटरों के उद्घाटन पर बोले रतन टाटा-असम दौरे पर पहुंचे पीएम मोदी, सात कैंसर अस्पतालों का करेंगे उद्घाटन-असम दौरे पर पहुंचे पीएम मोदी, सात कैंसर अस्पतालों का करेंगे उद्घाटन-विश्व मलेरिया दिवस-दुनिया का रक्षा खर्च 20 खरब डॉलर के पार पहुंचा, भारत भी टॉप 3 में शामिल-जापान में एक टूरिस्ट बोट डूबने से 11 यात्रियों की मौत-नाइजीरिया की अवैध तेल रिफाइनरी में धमाका, 100 से ज्यादा लोगों की मौत

महाराष्ट्र के एक किसान ने अपनी पोती के लिए कुछ ऐसा किया जिसकी चर्चा हर तरफ हो रही है

0

महाराष्ट्र के विदर्भ इलाके के किसानों के हालात पूरी दुनिया में चर्चा का विषय रह चुके हैं. यह देश का वह इलाका है जहां के किसान काफी गरीब माने जाते हैं और यहां से सुसाइड के मामले सामने आते रहते हैं. लेकिन उसी महाराष्ट्र के एक किसान ने अपनी पोती के लिए कुछ ऐसा किया जिसकी चर्चा हर तरफ हो रही है. पुणे जिले में एक किसान को अपने यहां पोती का जन्म होने पर इतनी खुशी हुई कि उसने मंगलवार को नवजात को घर लाने के लिए हेलीकॉप्टर का इंतजाम किया. पुणे के बालेवाड़ी इलाके के निवासी अजित पांडुरंग बलवडकर ने बताया कि वह अपनी पोती कृषिका का भव्य स्वागत करना चाहते थे. बलवडकर ने कहा कि जब नवजात को उसकी मां के साथ ननिहाल से घर लाने का समय आया तो उसने इसके लिए एक हेलीकॉप्टर बुक कर दिया. पूरा परिवार नए मेहमान के स्वागत के लिए पहुंचा और हेलीकॉप्टर से बच्ची को उतारकर घर लगाया गया. यही नहीं घर पर बच्ची के स्वागत का भी पूरा इंतजाम किया गया था. पूरी गली को सजाया गया और आतिशबाजी के साथ घर में बच्ची का दाखिला हुआ. इस घटना की तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो चुके हैं. हर कोई किसान के इस कदम की सराहना कर रहा है. देश में बेटे की आस में न जाने कितनी बेटियों की भ्रूण हत्या कर दी जाती है. कई मामलों में तो जन्म के बाद भी नवजात बेटी की हत्या के मामले सामने आ चुके हैं. ऐसे में पुणे के बलवडकर मिसाल हैं, जिन्होंने अपने घर में बेटी के जन्म को किसी उत्सव के रूप में मनाया है.

Leave A Reply

Your email address will not be published.