অসম আদিত্য - দেশ-জাতিৰ অতন্দ্ৰ প্ৰহৰী
শেহতীয়া খবৰ
110 देशों में बढ़ा Corona और Omicron Virus पर नज़र रखना हुआ मुश्किल-चंडीगढ़ में 2 दिन की बैठक आज से, पेट्रोल-डीजल GST में लाने पर चर्चा संभव-हवाई ईंधन की कीमत में फिर 5% की बढ़ोतरी, अब हवाई सफर करना होगा महंगा-कोरोना महामारी से निपटने के लिए किम जोंग उन करने वाले हैं सेना का इस्तेमाल-कोरोना महामारी से निपटने के लिए किम जोंग उन करने वाले हैं सेना का इस्तेमाल-असम में कैंसर सेंटरों के उद्घाटन पर बोले रतन टाटा-असम दौरे पर पहुंचे पीएम मोदी, सात कैंसर अस्पतालों का करेंगे उद्घाटन-असम दौरे पर पहुंचे पीएम मोदी, सात कैंसर अस्पतालों का करेंगे उद्घाटन-विश्व मलेरिया दिवस-दुनिया का रक्षा खर्च 20 खरब डॉलर के पार पहुंचा, भारत भी टॉप 3 में शामिल

PM मोदी के “मन की बात”

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) रविवार को ‘मन की बात’ कार्यक्रम के 89वें एपिसोड को संबोधित कर रहे हैं. इस दौरान वो देशवासियों से मिले सुझावों का जिक्र कर रहे हैं. ‘मन की बात’ को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, देश में यूनिकॉर्न की संख्या 100 के पार पहुंच गई है. पिछले कुछ ही दिनों में 14 नए यूनिकॉर्न बने हैं. भारत का स्टार्टअप आगे बढ़ रहा है. उन्होंने कहा कि भारत का स्टार्टअप नई उड़ान भरेगा. आने वाला समय भारत का होगा. ये यूनिकॉर्न कई दिशाओं में काम कर रहे हैं. यूनिकॉर्न के मामले में कई देश भारत से पीछे हैं. पीएम मोदी ने कहा, ‘कुछ दिनों पहले मुझे एक ऐसी interesting और attractive चीज मिली, जिसमें देशवासियों की creativity और उनके artistic talent का रंग भरा है. ये एक उपहार है, जिसे, तमिलनाडु के Thanjavur के एक Self-Help Group ने मुझे भेजा है. इस उपहार में भारतीयता की सुगंध है और मातृ-शक्ति के आशीर्वाद – मुझ पर उनके स्नेह की भी झलक है. यह एक special Thanjavur Doll है, जिसे GI Tag भी मिला हुआ है.  मैं Thanjavur Self-Help Group को विशेष धन्यवाद देता हूं कि उन्होंने मुझे स्थानीय संस्कृति में रचे-बसे इस उपहार को भेजा.’ उन्होंने कहा, ‘ये Thanjavur Doll जितनी खूबसूरत होती है, उतनी ही खूबसूरती से, ये, महिला सशक्तिकरण की नई गाथा भी लिख रही है. Thanjavur में महिलाओं के Self-Help Groups के store और kiosk भी खुल रहे हैं. इसकी वजह से कितने ही गरीब परिवारों की जिंदगी बदल गई है. ऐसे kiosk और stores की सहायता से महिलाएँ अब अपने product, ग्राहकों को सीधे बेच पा रही हैं. इस पहल को ‘थारगईगल कइविनई पोरुत्तकल विरप्पनई अंगाड़ी’ नाम दिया गया है. खास बात ये है कि इस पहल से 22 Self-Help Group जुड़े हुए हैं.’

Leave A Reply

Your email address will not be published.